Skip to main content

· One min read

न जाने उसीसे प्यार
कितनी बार हुआ है
इस दिल को

कितनी बार दर्द मिला
उसी के हाथो से
इस दिल को

अब वो हो न हो
कोई फरक नहीं पड़ता
इस दिल को

कमी खलती है
हर पल उसकी
इस दिल को

पर मेरे बिना वो
खुश है ये जानकार
आराम आता है
इस दिल को